Google’s 15th birthday गूगल का 15 वॉ जन्मदिन

Google’s 15th birthday गूगल का 15 वॉ जन्मदिन 

गूगल आज 15 साल का हो चुका है, और इसी अवसर पर आज गूगल ने अपने होम पेज  पर आप सभी पिनाटा  गेम खेलकर अपना जन्‍मदिन( birthday)  मनाने (celebrate) का मौका दिया है। 

आज से 15 साल पहले स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी (Stanford University) के दो छात्र लैरी पेज और सर्गेई ब्रिन (Larry Page and Sergey Brin) ने साथ मिलकर एक कंपनी शुरू की जो आज विश्‍व की शीर्ष कम्‍पनियों की लिस्‍ट में है। आज हर कोई गूगल को जानता है, इसकी सर्विस विश्‍वस्‍तरीय हैं, केवल जीमेल पर एकाउन्‍ट बनाकर एक ही ईमेल आईडी से गूगल की 15 से भी ज्‍यादा सेवाओं (services) को लाभ (benefit ) उठा सकते हैं। 
गूगल के होम पेज पर जाइये, यहॉ आपको  डूडल के जरिए पिनाटा गेम खेलने का अवसर मिलेगा, जो एक मशहूर बर्थडे पार्टी का गेम है। इसमें आपको अपने स्‍पेसबार, या माउस की क्लिक से पिनाटा को हिट करना है, और टॉफियां को बटोरना है। हिट करने के लिये आपको 10 मौके मिलेगें । जब आप पिनाटा को दस बार हिट कर लेगें, तो आप अपना स्‍कोर गूगल + पर भी शेयर कर सकेगें। कुछ इस तरह “मैनें डूडल पर टॉफ़ी जीती”

 यहॉ क्लिक कर गूगल के होम पेज पर जाईये या
 ब्राउजर के होम पेज पर टाइप कीजिये www.google.co.in



Spread the love

Abhimanyu Bhardwaj

मैं अभिमन्यु भारद्वाज अपने ब्लॉग और यूट्यूब चैनल My Big Guide (2M+ Subscriber) के माध्यम से पिछले 10 वर्षों से भी ज्यादा समय से डिजिटल रूप से हिंदी भाषा में कंप्यूटर शिक्षा का प्रचार प्रसार कर रहा हूॅ

This Post Has 3 Comments

  1. kuldeep thakur

    सुंदर रचना…
    आप की ये रचना आने वाले शनीवार यानी 28 सितंबर 2013 को ब्लौग प्रसारण पर लिंक की जा रही है…आप भी इस प्रसारण में सादर आमंत्रित है… आप इस प्रसारण में शामिल अन्य रचनाओं पर भी अपनी दृष्टि डालें…इस संदर्भ में आप के सुझावों का स्वागत है…

    उजाले उनकी यादों के पर आना… इस ब्लौग पर आप हर रोज कालजयी रचनाएं पढेंगे… आप भी इस ब्लौग का अनुसरण करना।

    आप सब की कविताएं कविता मंच पर आमंत्रित है।
    हम आज भूल रहे हैं अपनी संस्कृति सभ्यता व अपना गौरवमयी इतिहास आप ही लिखिये हमारा अतीत के माध्यम से। ध्यान रहे रचना में किसी धर्म पर कटाक्ष नही होना चाहिये।
    इस के लिये आप को मात्रkuldeepsingpinku@gmail.com पर मिल भेजकर निमंत्रण लिंक प्राप्त करना है।

    मन का मंथन [मेरे विचारों का दर्पण]

  2. डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    बहुत सुन्दर प्रस्तुति…!
    आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आपकी इस प्रविष्टी का लिंक आज शनिवार (28-09-2013) को ""इस दिल में तुम्हारी यादें.." (चर्चा मंचःअंक-1382)
    पर भी होगा!
    हिन्दी पखवाड़े की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ…!
    सादर…!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

  3. richa shukla

    सुंदर प्रस्तुति ..
    Google के 15 साल pure होने और सब को जोड़ने के इसके सहयोग के लिए Google व आप सब को बधाई…
    prathamprayaas.blogspot.in-

Leave a Reply