[boss operating system review in hindi] अब बॉस से चलेगा आपका कंप्‍यूटर

बॉस (BOSS) यानि भारत ऑपरेटिंग सिस्टम सोल्यूशन्स जो एक भारतीय ऑपरेटिंग सिस्‍टम है, यह आपॅरेंटिग सिस्‍टम सी-डैक द्वारा बनाया गया है। सी-डैक यानि सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑफ़ एडवांस्ड कंप्यूटिंग यह भारत की एक अर्धसरकारी सॉफ्टवेयर कम्पनी है। सी-डैक द्वारा बॉस ऑपरेटिंग सिस्टम के डेस्कटॉप वर्शन को अठारह भारतीय भाषाओं में बनाया जा चुका है। आईये जानते हैं बॉस में विस्‍तार से जानते है- 
बॉस लाइनेक्‍स पर आधारित ऑपरेटिंग सिस्‍टम है और यह पूरे भारत में इसको मुफ्त उपयोग किया जा सकता है यानि यह फ्री ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर है। डेस्कटॉप के लिये अाप बॉस को bosslinux.in से फ्री डाउनलोड कर सकते हैं। इसके अलावा इसमें अौर भी कई खूबियॉ हैं – 
  • बॉस के साथ फुल-फीचर्ड ऑफिस सुइट्स लिब्रे ऑफिस 4.3 दिया गया है, जिसमें आप वर्ड प्रोसेसिंग, स्प्रेडशीट्स, स्‍लाइड श्‍ाो के साथ-साथ डेटाबेस भी तैयार कर सकते हैं।
  • बॉस में आल-इन-वन कंट्रोल पैनल दिया गया है, जिसमें आप एक ही जगह से पसर्नल और हार्डवेयर सेंटिग्‍स को बदल सकते हैं। 
  • इसके साथ-साथ बॉस में डेस्‍कटॉप सर्च का आप्‍शन भी दिया गया है। 
  • बॉस के नये इनपुट मेथड में कई भारतीय भाषाओं का आप्‍शन दिया गया है, जिससे अाप आसानी से बदल सकते हैं। 
  • इंटरनेट चलाने के लिये फ़ायरफ़ॉक्स ब्राउजर का सपोर्ट दिया गया है। 
  • और मनोरंजन के लिये चैस , सुडोकु जैसे कई गेम्‍स भी दिये गये हैं।

Spread the love

Abhimanyu Bhardwaj

मैं अभिमन्यु भारद्वाज अपने ब्लॉग और यूट्यूब चैनल My Big Guide (2M+ Subscriber) के माध्यम से पिछले 10 वर्षों से भी ज्यादा समय से डिजिटल रूप से हिंदी भाषा में कंप्यूटर शिक्षा का प्रचार प्रसार कर रहा हूॅ

This Post Has One Comment

  1. डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल बुधवार (04-11-2015) को "कलम को बात कहने दो" (चर्चा अंक 2150) पर भी होगी।

    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।

    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर…!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

Leave a Reply