PARAM Supercomputer in india in hindi – परम पहला भारतीय सुपर कंप्यूटर

तकनीक की शुरूआत भारत में भले ही देरी से हुई हाे ले‍किन सुपर कंप्यूटर के क्षेञ में भारत का नाम विश्व के टॉप 10 देशों की लिस्ट में अाता है अाइये जानते हैं भारत में सुपर कंप्यूटर की शुरूआत कैसे हुई-
PARAM Supercomputer in india in hindi
PARAM Supercomputer in india in hindi

First Indian Supercomputer भारत का पहला सुपर कंप्यूटर – (महासंगणक)


1980 के दशक तक भारत के पास अपना सुपर कंप्यूटर नहीं था वह ऐसा दौर था जब भारत में तकनीकी युग की शुरूआत हो चुकी थी भारत अमेरिका से सुपर कंप्यूटर लेना चाहता था ले‍किन अमेरिका ने भारत को सुपर कंप्यूटर देने से इंकार कर दिया इसके पीछे कई वजह थीं अमेरिका नहीं चाहता था कि कोई उस‍की बराबरी कर सके। लेकिन भारत में सेंटर ऑफ डेवलपमेंट पुणे द्वारा “परम-8000” कंप्यूटर बनाकर दुनियॉ को दिखा दिया कि हम भी किसी से कम नहीं इसके बाद भारत ने सुपर कंप्यूटर “परम-8000” तीन देशों जर्मनी, यूके,और रूस को दिया।इसके बाद 1998 में सी-डेक द्वारा एक सुपर कंप्यूटर और बनाया गया जिसका नाम था “परम-10000”,इसकी गणना क्ष्‍मता 1 खरब गणना प्रति सेकण्ड थी  अाज भारत का विश्व में सुपर कंप्यूटर के क्षेञ में नाम है। दुनियॉ के बेहतरी सुपर कंप्यूटर की सूची बनाई गयी है जिसकी  टॉप 10 लिस्ट में भारत का नाम चौथे नंबर पर है।

भारत के अन्य सुपर कंप्यूटर – India’s other supercomputer

  • Aaditya – आदित्य 
  • Anupam – अनुपम 
  • PARAM Yuva – परम युवा 
  • PARAM Yuva II – परम युवा द्वितीय 
  • SAGA-220 – सागा 220 
  • EKA – एका 
  • Virgo – वर्गो 
  • Vikram-100 – विक्रम-100 
  • Cray XC40 – क्रे XC40 
  • Bhaskara – भास्कर
  • Pace – पेस
  • Flow solver – फ्लो सॉल्वर

दुनिया में सर्वश्रेष्ठ 5 सुपर कंप्यूटर की सूची – list of Best 5 supercomputers in the world

  1. तिअन्हे-1अ (एन यू डी टी), चीन
  2. ब्लू जीन/ एल सिस्टम (आईबीएम), यूएस
  3. ब्लू जीन/पी सिस्टम (आईबीएम), जर्मनी
  4. सिलिकॉन ग्राफिक्स (एसजीआई), न्यू मैक्सिको
  5. एका, सीआरएल (आर्म ऑफ टाटा सन्स), भारत

Spread the love

Abhimanyu Bhardwaj

मैं अभिमन्यु भारद्वाज अपने ब्लॉग और यूट्यूब चैनल My Big Guide (2M+ Subscriber) के माध्यम से पिछले 10 वर्षों से भी ज्यादा समय से डिजिटल रूप से हिंदी भाषा में कंप्यूटर शिक्षा का प्रचार प्रसार कर रहा हूॅ

This Post Has 4 Comments

    1. अभिमन्‍यु भारद्वाज

      पोस्ट को बुलेटिन में शामिल करने के लिये अाभार

  1. Asha Joglekar

    हमें गर्व है भारत की इस उपलब्धी पर।

    1. अभिमन्‍यु भारद्वाज

      जी बिलकुल

Leave a Reply