कंप्यूटर फाइल क्‍या है – What Is Computer file in Hindi

फाइल क्‍या है – What Is Computer file in Hindi – File का नाम सुनते ही दिमाग में Office की कागजों से भरी फाइल सामने आती है, लेकिन Computer की भाषा में Computer File कई प्रकार की होती है और भिन्‍न-भिन्‍न तरीके से काम करती है चाहे Ms Word हो या Ms Excel हो या Power Point अपने किये गये कार्य को Computer में save करने के लिए हमें एक Computer File बनानी पडती है ताकि जरूरत पडने पर हम उस File को Open करें चाहे Edit करें या जरूरत पड़ने पर Print निकालें तो आइये अब समझते हैं कि फाइल होती क्‍या है – What is Computer file 
फाइल क्‍या है - What Is Computer file in Hindi

फाइल क्‍या है – What is Computer File in Hindi

कम्‍प्‍यूटर में डाटा, प्रोग्राम, सॉफ्टवेयर आदि सुरक्षित रखने के लिए फाइल की आवश्‍यकता होती है, प्रोग्राम फाइल्‍स की सहायता से ही Computer को निर्णय लेने में मदद मिलती है इसे हम इस प्रकार भी समझते हैं कि कम्‍प्‍यूटर में प्रत्‍येक प्रोग्राम डाटा फाइल्‍स में सुरक्षि‍त रखा जाता है – 

फाइल के प्रकार (Kind Of File in Hindi)

कम्‍प्‍यूटर में फाइल्‍स तीन प्रकार की होती हैं

  1. डाटा फाइल (Data File)
  2. प्रोग्राम फाइल (Program File)
  3. उप-डाइरेक्टरी फाइल (Sub-Directory file)

डाटा फाइल – Data File in Hindi 

डाटा फाइल वे फाइल होती हैं जिन्‍हें किसी सॉफ्टवेयर के माध्‍यम से तैयार किया जाता है यह एक डाक्‍यूमेंट फाइल भी हो सकती है या इसके अन्‍य रूप भी हो सकते हैं जैसे Music file, picture file, MS Word file, MS EXCEL FILE, HTML फाइल इन्‍हें तैयार करने के लिए विशेष प्रकार के एप्‍लीकेशन सॉफ्टवेयर जैसे एम0एस0 वर्ड, एम0एस0 एक्‍सल,एम0एस0 पावर पाइंट आदि की आवश्‍यकता होती है, इन फाइलों को पुनः एडिट किया जा सकता है और कोई भी डाटा इन फाइलों में सुरक्षित रखा जा सकता है

प्रोग्राम फाइल – Program File in Hindi 

प्रोग्राम फाइलें वे फाइलें होती हैं जिन्‍हें किसी प्रोग्रामिंग भाषा के माध्‍यम से तैयार किया जाता है प्रोग्रामिंग भाषा एक कृत्रिम भाषा होती है जिसका प्रयोग कम्‍प्‍यूटर प्रोग्रामिंग करते समय किया जाता हैा ये फाइलें मुख्‍य रूप से चार प्रकार के Extension (विस्‍तारित नाम) के साथ .EXE, .COM, .BAT, .SYS की होती हैं कोई भी सॉफ्टवेयर या प्रोग्राम जब आप खरीदते हैं या इण्‍टरनेट से डाउनलोड करते हैं तो इसमें प्रोग्राम फाइल्‍स का एक वण्‍डल होता है Program file को रन करने के लिए ऑपरेटिंग सिस्‍टम की आवश्‍यकता होती है जब डाटा फाइल को रन करने के लिए एप्‍लीकेशन सॉफ्टवेयर की आवश्‍यकता होती है, उदाहरण के लिए जब आप एम0एस0 ऑफिस का कम्‍पलीट पैकेज अपने कम्‍प्‍यूटर में इन्‍स्‍टाल कर रहे होते हैं तब असल में आप एक प्रोग्राम फाइल को रन कर रहे होते हैं

उप-डाइरेक्टरी फाइल – Sub-Directory file in Hindi 

उप-डाइरेक्टरी फाइल वे फाइलें होती हैं जो आपके कम्‍प्‍यूटर में डाटा फाइल और प्रोग्राम फाइल्‍स को आर्गनाइज करती हैं जैसे आप कम्‍प्‍यूटर में एक फोल्‍डर बनाते हैं और उस फोल्‍डर के अन्‍दर दो फोल्‍डर और बनाते हैं पहले फोल्‍डर में आप एम0एस0 वर्ड की फाइल को सेव करके रखते हैं तथा दूसरे फोल्‍डर में आप एम0एस0 एक्‍सल की फाइल को सेव करके रखते हैं इस तरह से आप दोनों प्रकार की डाटा फाइल को अलग-अलग डाइरेक्टरी में आर्गनाइज कर सकते हैं इन्‍हें Disk file के रूप में भी प्रयोग किया जाता है

कंप्‍यूटर फाइल को हिंदी में क्या कहते हैं – Computer File Meaning Hindi

Computer File का मतलब क्या होता है हिंदी में – Computer file को हिंदी में संगणक संचिका कहते हैं

फाइल का नाम क्‍या होता है (What is the name of the file)

कम्‍प्‍यूटर में किसी भी फाइल के नाम को दो भागों में विभाजित किया जाता हैा पहला भाग किसी भी कम्‍प्‍यूटर यूजर द्वारा या एप्‍लीकेशन सॉफ्टवेयर द्वारा दिया हो सकता हैा जो फाइल का नाम प्रदर्शित करता है यूजर यदि चाहे तो इसे रीनेम करके बदल भी सकता है
फाइल के नाम का दूसरा भाग विस्‍तारित नाम या एक्‍स्‍टेंशन को प्रदर्शित करता है और यह बताता है कि यह फाइल किस एप्‍लीकेशन सॉफ्टवेयर में तैयार की गई है या यह किस प्रकार की प्रोगाम फाइल है, फाइल के नाम को और एक्‍स्‍टेंशन को डाट (.) की सहायता से जोड़ा जाता है, एक डाइरेक्टरी या सब डाइरेक्टरी में एक ही फाइल नेम और एक्‍स्‍टेंशन की दो फाइलें नहीं हो सकती हैं

फाइल का नाम रखते समय ध्‍यान रखने लाइक बातें

  • एक फाइल का नाम रखते समय आप फाइल के नाम में निम्‍नलिखत ग्‍यारह शब्‍दों का प्रयोग नहीं किया जा सकता, लेकिन इन शब्‍दों का प्रयोग अन्‍य शब्‍दों के साथ मिलाकर कर सकते हैं- COM, COM2, COM3, COM4, AVX, CON, LPT1, LPT2, LPT3, NUL, PRN
  • फाइल नाम में निम्‍नलिखित चिन्‍हों का प्रयोग नहीं होना चाहिए-? *, /,, {, }, ., <,>, =
  • फाइल का नाम अंग्रेजी वर्णमाला में प्रयुक्‍त अक्षर A से Z, a से z तथा 0 से 9 तक के अंक तथा विशेष चिन्‍ह; जैसे $, &, (,), #, -, @, !, % की सहायता से ही रखा जाना चाहिएा
  • फाइल का नाम एवं फाइल का विस्‍तारित नाम जोड़ने के लिए डॉट (,) का प्रयोग करना चाहिए

कम्प्यूटर में ड्राइव क्‍या होती है – What is a Drive in a Computer

डाइव कम्‍प्‍यूटर से सम्‍बन्धित हार्डवेयर है आजकल मुख्यतः तीन प्रकार की ड्राइव हार्ड डिस्‍क ड्राइव (Hard Disk Drive), फलाफी डिस्‍क ड्राइव (Floppy Disk Drive) और काम्‍पैक्‍ट डिस्‍क ड्राइव (Compact Diks Drive) प्रयोग की जा रही है, हार्ड डिस्‍क को C, D …. ड्राइव नाम से प्रदर्शित किया जाता है एवं फ्लॉपी डिस्क ड्राइव को A एवं B ड्राइव नाम से प्रदर्शित किया जाता है
वर्तमान में कम्‍प्‍यूटर में A और B ड्राइव प्रदर्शित नहीं होती हैं उसका आशय यह है कि वर्तमान में फ्लॉपी डिस्क ड्राइव का इस्‍तेमान नहीं हो रहा है जब शुरूआत में Computer बनाये गये थे तब स्‍टोरेज डिवाइस के तौर पर फ्लापी डिस्‍क ड्राइव का इस्‍तेमाल किया जाता था जिसके लिए ड्राइव A और ड्राइव B नाम आरक्षित किया गया था तथा यह परम्‍परा तभी से चली आ रही है हालांकि वर्तमान में फ्लापी डिस्‍क ड्राइव का प्रयोग नहीं किया जाता है लेकिन फिर भी ड्राइव A और ड्राइव B नाम अभी भी रिजर्व है जब आप कोई हार्ड डिस्‍क या काम्‍पेक्‍ट डिस्‍क अपने कम्‍प्‍यूटर में इस्‍तेमाल करते हैं तो ड्राइव का नाम C और D से शुरू होता है

फाइल पाथ क्‍या होता है (What is a File Path)

जब हम किसी फाइल को कम्‍प्‍यूटर में सेव करते हैं किसी Directory और subdirectory के भीतर तो उस तब पहुंच का मार्ग होता है उसे फाइल पाथ कहते हैं यानी किसी फाइल को प्राप्‍त करने के लिए डाइव की मूल डाइरेक्टरी एवं उसकी उप-डाइरेक्टरी में जाने की आवश्‍यकता होती हैं जिसमें फाइल सुरक्षित है इस प्रकार फाइल का रास्‍ता कम्‍प्‍यूटर को बताना फाइल का पाथ प्रदर्शित करना कहा जाता है प्रत्‍येक डाइरेक्टरी को अलग करने के लिए Back Slash () का प्रयोग किया जाता है
उदाहरण के लिए हम इस पाथ को देखते हैं – D:BillBank PDF
इसमें डाइव D है जिसकी डाइरेक्टरी Bill और उप-डाइरेक्टरी Bank PDF है इसे देखने भर से पता चल जायेगा कि फाइल कहां सुरक्षित की गई है फाइल पाथ का अर्थ यही है कि यह उस रास्‍ते को दर्शाता है जहां हम फाइल सुरक्षित करना चाहते हैं या तो हमने फाइल को सुरक्षित किया है

फाइल और फोल्डर में क्या अंतर है – Differences Between File and Folder

जैसा कि हमने जाना कि फ़ाइल कुछ डेटा का एक संग्रह है, लेकिन फ़ोल्डर एक ऐसा स्‍थान में होता है जहां पर फाइलों का ऑर्गनाइज किया जा सकता है जिससे एक जैसी फाइलों को एक स्‍थान पर रखा जा सकते हैं फाइलों तक पहुॅचने के लिये कंप्‍यूटर फाइल पाथ का यूज करता है 

Spread the love

Abhimanyu Bhardwaj

मैं अभिमन्यु भारद्वाज अपने ब्लॉग और यूट्यूब चैनल My Big Guide (2M+ Subscriber) के माध्यम से पिछले 10 वर्षों से भी ज्यादा समय से डिजिटल रूप से हिंदी भाषा में कंप्यूटर शिक्षा का प्रचार प्रसार कर रहा हूॅ

This Post Has 2 Comments

  1. डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    उपयोगी जानकारी

  2. Unknown

    Sir ur channel is so useful for me. Thnq u very much for providing new topic.

Leave a Reply